The teacher’s own application was serious inaccuracies, then the children would learn?

शिक्षिका के खूद के आवेदन में थी गंभीर अशुद्धियां,फिर बच्चे सीखेंगे क्या ?

मामला प्रखंड के मिर्जापुर मीडिल स्कूल का है I शनिवार को मुखिया चमेली दीक्षित और मुखिया प्रतिनिधि हर्षवर्धन दीक्षित ग्रामीणों की शिकायत पर विद्यालय पहुंचे थे I जांच में विद्यालय कि एक शिक्षिका के छुट्टी का आवेदन भी आमने आया I शिक्षिका कृष्णा देवी 21 अप्रैल को एक दिन का छुट्टी ली थी I मुखिया को जब आवेदन दिखाया गया तो मुखिया उनके प्रतिनिधि के साथ उपस्थित ग्रामीण भी सकते में आ गए!

चार लाइन के आवेदन में कई बड़ी अशुद्धियां थी I उपस्थित लोगों का इसे देख कर साफ तौर पर कहना था कि जब शिक्षक को खुद लिखना पता नहीं होंगा तो बच्चों का क्या होंगा I आप भी सोचिए अबोध बच्चों का भविष्य क्या होने जा रहा है ?

इस व्यवस्था का जिम्मेवार कौन है ….. यही शिक्षक सामान कार्य के लिए सामान वेतन की मांग कर रहे है I क्या इन शिक्षक को भी अपनी योग्यता और क्षमता के बारे में नहीं सोचना चाहिए

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *